Home / Uncategorized / Vikas Saxena (Choreographer & Actor) Interview by Vandana Agarwal

Vikas Saxena (Choreographer & Actor) Interview by Vandana Agarwal

आप अनबिटेबल ग्रुप के डायरेक्टर, डी.जे.डी. डाँस जयपुर डाँस एवं जॉलीवुड के फाउण्डर हैं। 1997 में वेस्टर्न डाँस के इन्टरनेशनल विनर रह चुके हैं। बॉलिवुड मूवीज जैसे मुम्बई केन डाँस साला, बेटियाँ में काम कर चुके हैं। हाल ही में माय लाइफ, माय चॉइस मूवी करी थी। डी.जे.डी. में जज के तौर पर सरोज खान, शक्ति मोहन, मुद्दसर खान के साथ काम कर चुके हैं। कॉमेडी शॉ में एन्टरटेनर के तौर पर कॉमेडियन वी.आई.पी. के साथ काम कर चुके हैं। वी.आई.पी. एण्ड विकास के साथ ग्लैमरस, कॉमेडी नाइट में काम कर चुके हैं। अदिती गौवित्रीकर के साथ एस.ए. मिस जयपुर पिंक सिटी 2017 को जज किया था। 200 से ज्यादा शोज और इवेन्ट्स को जज कर चुके हैं। 500 से ज्यादा इवेन्ट्स, साँग्स, फैशन शोज को कोरियोग्राफ कर चुके हैं।

प्र.1. आप कहाँ के रहने वाले हैं ?
उतर. मैं जयपुर का रहने वाला हूँ वो मेरा पैतृक घर है और अभी मैं मुम्बई अंधेरी वेस्ट में रह रहा हूँ। जयपुर ही मेरा घर है और यही मेरी जन्मभूमि है।

प्र.2. आपकी एजुकेशन के बारे में हमें बताएँ ?
उतर. मैने ग्रेजुऐशन कम्पलीट किया है, मेरे पास होटल मैनेजमेन्ट में डिप्लोमा है और इसके साथ ही मेरे पास मार्केटिंग सेल्स मैनेजमेन्ट का भी डिप्लोमा है।

प्र.3. आपने अपना करियर डाँसिग में कैसे शुरू किया ?
उतर. मैं बचपन से ही डाँस करता था, सभी तरह के डाँस मैंने किए हैं। जब मैं 9 वीं कक्षा में था तो मैंने खुद का इन्स्ट्टीयूट खोल लिया था। टी.वी. देख देखकर सीखता था, प्रभू देवा सर का फैन था। जिस भी कॉप्टिशियन में जाता फर्स्ट प्राइज जीतकर लौटता था। राजस्थान यूनिवर्सिटी को डाँस में रिप्रजेन्ट किया और इन्टरनेशनल लेवल पर राजस्थान यूनिवर्सिटी को फर्स्ट प्राइज जीतवाया। पहलें से ही तय था कि इसी फील्ड में आगे जाना है।

प्र.4. वह कौन लोग हैं जिन्होने आपके करियर में आपकी सहायता की थी ?
उतर. संजना मैम बॉलिबुड में एक मैकअप आर्टिस्ट है उन्होने मुझे मुम्बई केन डाँस साला की टीम से मिलवाया जिसमें आशिमा शर्मा, प्रशान्त नारायनन, शक्ति कपूर, राखी सांवत और मुकेश तिवारी थे तो मुझे फर्स्ट रोल जफर भाई का मिला था जो डॉन का राइट हैण्ड का था। ये तो था मेरा एक्टिंग करियर और मेरे डाँसिग करियर की मैं बात करूं तो मुझे एक गुरू मिले लॉलीपोप सर वे (आमिर खान) आती क्या खण्डाला साँग और (सलमान खान) वीर मूवी मेहरबानियां सांग की कोरियग्राफी कर चुके हैं। वे बहुत बडे कोरियाग्राफर हैं मैंने जितना भी और जो भी सीखा उन्ही से सीखा था।

प्र.5. आप अपने संघर्ष के दिनों के बारे में हमें कुछ बताएं ?
उतर. हमारा संघर्ष तो अभी भी चल ही रहा है, हर व्यक्ति के जीवन में संघर्ष चलता ही रहता है। जिस व्यक्ति के जीवन में संघर्ष खत्म हो जाए तो समझियेगा कि वह उसके जीवन का अन्तिम पल है। हम सब लोग अभी तक भी संघर्ष कर रहे हैं, हर दिन अपना बेस्ट परफोरमेंस देने की कोशिश करते हैं। ऐसा नहीं है कि मैंने अपने जीवन में कोई बुरा वक्त नहीं देखा है, इससे मैंने बुरे वक्त को अच्छे वक्त में बदलना सीख लिया है। मेरी लाइफ में एक टर्निंग पॉइंट आया और मैं मुम्बई गया, छोटा-मोटा काम मिलने लगा, बडे कोरियाग्राफर को असिस्ट करता था, धीरे-धीरे समझ आता गया और मैं एक्टिंग में जाने लगा। सावधान इण्डिया में छोट-मोटे रोल मिले, फिर महसूस हुआ कि मैं कोई वन डे, टू डे के लिए नहीं बना हूँ। ऐसे ही कई टर्निंग पॉइंट आते गये और मैं आगे बढता गया।

प्र.6. आप अपने अपकमिंग प्रोजेक्ट के बारे में हमें कुछ बताना चाहेंगे ?
उतर. जयपुर में दो एलबम की शूटिंग होगी ’सफर’ और ’सुपण’ जिसमें मैं ही लीड रोल में हूँ और मैंने ही एलबम के लिए कोरियाग्राफी करी है। मेरे साथ एलबम में ऐश्वर्या राजावत, देवांश और वान्या भी मुख्य भूमिकाओं में नजर आएंगे। यह साँग सिंगर कुमार सपन और तृप्ति सिन्हा ने गाया है। दूसरे एलबम ’सुपण’ में पंजाबी सिंगर आर्यन शर्मा अपनी आवाज देंगे और फिर एक टैलेंट शो के मेगा ऑडिशन में मुख्य जज की भूमिका भी निभाऊँगा। इसके बाद आप लोग मुझे एक मूवी में भी देखेंगे।

प्र.7. आपका सक्सेज मंत्र क्या है ?
उतर. सच बताऊं तो जब मेरा बुरा वक्त चल रहा था, तो मैंने अपने ईस्ट देव जो कि मेरे गुरू देव हैं, उन पर ध्यान केन्द्रित किया था। अपना हर काम शुरू करने से पहलें जय भोले नाथ का जयकारा लगाता हूँं। मैं उन्हे बहुत मानता हूँ, मैं ये जानता हूँ कि हमारी कोई औकात नहीं है, जो करते हैं वो भोले नाथ करते हैं, हम तो बस दिमाग से मेहनत कर सकते हैं, जो होता है भगवान भोले नाथ करवाते हैं, हम तो बस माध्यम हैं।

प्र.8. वह कौन व्यक्ति हैं, जो आपको हर समय मोटिवेट करते हैं ?
उतर. मुझे हर व्यक्ति मोटिवेट करता है, कोरियोग्राफर्स के अलावा डॉ. राजीव बियानी और डॉ. संजय बियानी से मुझे बहुत मोटिवेशन मिलता है, मैं दोनो के काम की बहुत ही रेसपेक्ट करता हूँ और हमेशा सब से कुछ न कुछ सीखता रहता हूँ। बाकी लिस्ट तो बहुत लंबी है।

प्र.9. बियानी टाइम्स के पाठकों को आप क्या संदेश देना चाहते हैं ?
उतर. मैं यही कहना चाहूंगा कि बियानी टाइम्स ऊर्जा और पॉजिटिविटी देने के लिए बना है, पॉजिटिव पढेंगे तो पॉजिटिव बनेंगे। दुसरा मैं कहना चाहूंगा कि हार शब्द को अपनी डिक्शनरी में से डिलीट कर दें। अगर कुछ भी कर गुजरने का मन है तो हिम्मत से काम लीजिए और सही दिशा में काम करते रहिये। एक जीत होने के बाद उसे एन्जॉय ना करें तुरन्त दूसरे लक्ष्य पर ध्यान केन्द्रित करें। मैं जयपुर में जॉलिवुड लेकर आ चुका हूँ, तो यहाँ के लोगों को अपने टैलेंट से पहचान दिलाने में पूरा सहयोग करूंगा।

 

Check Also

एनआईआरएफ रेंकिंग 2018 जारी, प्रदेश के दो शिक्षण संस्थान टॉप-100 में शामिल

Share this on WhatsAppदेश में उच्च शिक्षा की गुणवत्ता में सुधर के लिए शुरू की …

Apply Online
Admissions open biyani girls college