Breaking News
Home / Health / मकरासन करने से दूर होता है कमर का दर्द

मकरासन करने से दूर होता है कमर का दर्द

आजकल की व्यस्त जीवनशैली में हम सभी को ज्यादातर काम झुककर करना पडता है। नतीजन पीठ दर्द, कमर दर्द, सर्वाइकल और अन्य सामान्य समस्याएं आम हो गई हैं। सामान्य दर्द को दूर करने के लिए दवा से बेहतर उपाय है योग। मगर एक संस्कृत शब्द‍ है जिसका अर्थ होता है मगरमच्छ। इस आसन में शरीर पानी में तैरते हुए मगर के जैसा प्रतीत होता है। मकरासन में पेट के बल लेट कर पूरे शरीर को पांव के पंजों तथा हाथ की हथेलियों पर टिका देते हैं। इस आसन में पूरे शरीर पर जोर पडता है जिससे पूरे शरीर का व्यायाम हो जाता है। मकरासन में हमारी रीढ़ और पीठ की मांसपेशियों के दर्द को दूर करता है। यह आसन सभी उम्र के लोग कर सकते हैं।

Yoga-Poses-Crocodile-Pose-Makarasana

मकरासन आरामदायक आसन के अंतर्गत आता है। जब भी पेट के बल लेटकर यह आसन किया जाता है तब सांस लेने की गति बढ जाती है, सांस की गति को सामान्य करने के लिए मकरासन किया जाता है। मकरासन के प्रत्येक दिन अभ्यास करने से समस्त कोशिकाओं, मांसपेशियों को आराम मिलता है। मकरासन से शरीर में खून का संचार सुचारु रूप से होने लगता है जिससे वे हमेशा स्वस्‍थ और निरोगी रहते है। मकरासन की क्रिया में फेफड़े फैलते है जिससे इनके अंदर ऑक्सीजन अधिक मात्रा में अंदर जाती है तथा कार्बनडाइआक्साफइड बाहर निकलती है। मकरासन से दमा रोग व सांस से संबंधित रोगों को समाप्त करने में भी सहायता मिलती है। मकरासन को करने से शवासन के भी लाभ प्राप्त होते है। मकरासन कमर दर्द, पीठ दर्द, सर्वाइकल में आराम देता है।

मकरासन करते वक्त सावधानी

मकरासन करते वक्त दोनों पैरों में इतना अंतर होना चाहिए कि वे जमीन को ना छुएं। सीना जमीन से ऊपर की तरफ उठा हुआ होना चाहिए। दोनों हाथों की कैंची जैसी आकृति बनाने के बाद ही सिर को बीच में रखते हैं। सांस लेने की प्रक्रिया सामान्य अवस्था में होनी चाहिए।

Check Also

जयपुर में फिटनेस के लिए ऑटोमेटिक टेस्टिंग स्टेशन शुरू:स्थानीय सेंटर पर जाने की जरूरत नहीं होगी, टू-व्हीलर की भी होगी जांच

Share this on WhatsAppराजस्थान के 83 फिटनेस सेंटर 1 अक्टूबर 2024 से बंद हो जाएंगे, …

Gurukpo plus app
Gurukpo plus app