Home / Editorial / कोरोना पर मीटिंग में PM का जिनोम सिक्वेंसिंग पर जोर

कोरोना पर मीटिंग में PM का जिनोम सिक्वेंसिंग पर जोर

राधिका अग्रवाल

प्रधानमंत्री  नरेंद्र मोदी ने बुधवार को कोरोना के बढ़ते मामलों को लेकर हाईलेवल मीटिंग की। उन्होंने मीटिंग में सर्विलांस, जीनोम टेस्टिंग और सांस की बीमारी से पीड़ित सभी मरीजों की टेस्टिंग करने पर जोर दिया। देश में इन दिनों कोविड-19 और इन्फ्लूएंजा के केस लगातार बढ़ते जा रहे है। । बैठक में प्रधान मंत्री कार्यालय के अधिकारी, गृहमंत्री अमित शाह, स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया और अन्य सीनियर अधिकारियों ने भाग लिया। बैठक में प्रधानमंत्री ने कोविड की स्थिति से निपटने के तरीके सुझाए और सावधानी बरतने की सलाह दी। उन्होंने सतर्कता बरतने की सलाह भी दी। इसके अलावा, पीएम मोदी ने सभी गंभीर सांस की बीमारी (SARI) मामलों की लैब सर्विलांस और टेस्ट बढ़ाने की आवश्यकता पर बल दिया।

पीएम मोदी ने सुझाव दिया कि जीनोम सीक्वेंसिंग में तेजी लाई जानी चाहिए और कहा कि तैयारियों को सुनिश्चित करने के लिए अस्पतालों में मॉक ड्रिल का आयोजन किया जाना चाहिए। प्रधानमंत्री ने सलाह दी कि लोगों को श्वसन स्वच्छता का पालन करना चाहिए और कोविड उचित व्यवहार का पालन करना चाहिए क्योंकि देश में मामले लगातार बढ़ रहे हैं और एच3एन2 का खतरा बढ़ रहा है।

 भारत में बुधवार  को कोरोना के 1134 नए मामले सामने आए। इनमे से  5 लोगों की मौत हो गई। 662 मरीज ठीक हुए। वहीं, एक्टिव केस की संख्या बढ़कर 7026 हो गई है। देश में अब तक कोविड वैक्सीन के 220.65 करोड़ डोज दिए जा चुके हैं। देश में कोरोना का पहला केस 28 फरवरी 2020 को मिला था। तब से अब तक देश में 4.46 करोड़ से ज्यादा केस सामने आ चुके हैं। 5 लाख से ज्यादा संक्रमितों की मौत हो चुकी है।

24 घंटे में 100 से ज्यादा नए केस वाले 4 राज्य :-
महाराष्ट्र: 280 केस मिले। 1 संक्रमित की मौत हो गई। 1489 मरीजों का इलाज चल रहा है , गुजरात: 176 केस मिले 1 मरीज की मौत हो गई, 916 का इलाज चल रहा है , केरल: 113 केस मिले 1 की मौत हुई 1025 का इलाज चल रहा है , कर्नाटक: 113 केस मिले 624 मरीजों का इलाज चल रहा है।

image.png
फतेहाबाद में महिला मिली  H3N2 पॉजिटिव : –
हरियाणा के फतेहाबाद में H3N2 इन्फ्लुएंजा वायरस का एक और मरीज मिला है। हिसार के निजी अस्पताल में ढाबी कलां की 62 वर्षीय बुजुर्ग महिला भर्ती है। महिला को खांसी व जुकाम की शिकायत थी, ऐसे में वायरस की जांच के लिए सैंपल लिए गए। मंगलवार दोपहर को जो रिपोर्ट आई है उसमें पॉजिटिव मिली है। स्वास्थ्य विभाग ने अब बुजुर्ग महिला की निगरानी भी शुरू कर दी है। बुजुर्ग महिला बीपी व शुगर से भी पीड़ित है।

इन्हे है अधिक खतरा : –
जो कोई शख्स पहले से ही गंभीर बीमारियों का सामना कर रहा हो, उस पर इस वैरिएंट का खतरा अधिक है। खासतौर से अगर कोई एचआईवी पॉजिटिव, हॉर्ट पेशेंट, लीवर, किडनी की समस्या का सामना कर रहा हो उसके लिए जोखिम अधिक होता है।

Check Also

IPL का गणित, प्लेऑफ से एक जीत दूर गुजरात

IPL का गणित, प्लेऑफ से एक जीत दूर गुजरात

Share this on WhatsAppइंडियन प्रीमियर लीग (IPL) में लीग स्टेज के 52 मैच खत्म होने …