Breaking News
Home / Uncategorized / Christmas 2020: क्यों 25 December को ही मनाते हैं क्रिसमस

Christmas 2020: क्यों 25 December को ही मनाते हैं क्रिसमस

Christmas 2020: 25 दिसंबर को पूरी दुनिया में क्रिसमस डे (Christmas Day) के तौर पर मनाया जाता है. इसे बड़ा दिन (Bada Din) भी कहते हैं. क्रिसमस के दिन लोग एक-दूसरे के साथ पार्टी करते हैं, घूमते हैं और चर्च में प्रेयर करते हैं. साथ ही क्रिसमस डे के दिन बच्चों को मोज़े में तोहफे दिए जाते हैं. घर पर बने केक बनाए और खिलाए जाते हैं. इस बार क्रिसमस (Friday, 25 December) शुक्रवार को है और इससे ठीक सातवें दिन नया साल 2020 (New Year 2020) शुरू होने वाला है. यहां जानिए क्रिसमस ट्री से लेकर सैंटा क्लॉज के मोज़े में गिफ्ट देने के चलन से जुड़ी कुछ बेहद ही दिलचस्प बातें.

क्यों मनाया जाता है क्रिसमस?

क्रिसमस जीसस क्रिस्ट (Jesus Christ) के जन्म की खुशी में मनाया जाता है. जीसस क्रिस्ट को भगवान का बेटा (Son of God) कहा जाता है. क्रिसमस (Christmas) का नाम भी क्रिस्ट (Christ) से पड़ा.

25 दिसंबर को ही क्यों मनाते हैं क्रिसमस ?

बाइबल में जीसस की कोई बर्थ डेट नहीं दी गई है, लेकिन फिर भी 25 दिसंबर को ही हर साल क्रिसमस मनाया जाता है. इस तारीख को लेकर कई बार विवाद भी हुआ. लेकिन 336 ई. पूर्व में रोमन के पहले ईसाई रोमन सम्राट (First Christian Roman Emperor) के समय में सबसे पहले क्रिसमस 25 दिसंबर को मनाया गया. इसके कुछ सालों बाद पोप जूलियस (Pop Julius) ने आधिकारिक तौर पर जीसस के जन्म को 25 दिसंबर को ही मनाने का ऐलान किया.

Christmas 2020; क्रिसमस ट्री की कहानी 

क्रिसमस ट्री की शुरुआत उत्तरी यूरोप में हज़ारों सालों पहले हुई. उस दौरान ‘Fir’ नाम के पेड़ को सजाकर इस विंटर फेस्टिवल को मनाया जाता था. इसके अलावा लोग चेरी के पेड़ (Cherry Plant) की टहनियों को भी क्रिसमस के वक्त सजाया करते थे. जो लोग इन पौधों को खरीद नहीं पाते थे वो लकड़ी को पिरामिड का शेप देकर क्रिसमस मनाया करते थे. धीरे-धीरे क्रिसमस ट्री का चलन हर जगह बढ़ा और अब हर कोई क्रिसमस के मौके पर इस पेड़ को अपने घर लाता है और इसे कैंडी, चॉकलेट्स, खिलौने, लाइट्स, बेल्स और गिफ्ट्स से सजाता है.
कैसे मनाते हैं क्रिसमस ? (How to celebrate Christmas)

खासकर, विदेशों में क्रिसमस से पहले ही लोगों और बच्चों की स्कूल, कॉलेज और ऑफिस से छुट्टियां कर दी जाती हैं. पूरा बाज़ार और हर सड़क क्रिसमस ट्री (Christmas Tree) और लाइटों से जगमगा उठती है. 24 दिसंबर को लोग ईस्टर ईव मनाते हैं और 25 दिसंबर (25 December) को घरों में पार्टी करते हैं, जो कि 12 दिनों तक चलती है. 25 दिसंबर से शुरु होकर क्रिसमस 5 जनवरी तक चलता है. खासकर यूरोप में 12 दिनों तक मनाए जाने वाले इस फेस्टिवल को Twelfth Night के नाम से जाना जाता है.

Check Also

सुप्रीम कोर्ट ने राजद्रोह कानून पर तत्काल लगाई रोक , समीक्षा होने तक दर्ज नहीं होगी नई FIR

सुप्रीम कोर्ट ने राजद्रोह कानून पर तत्काल लगाई रोक, समीक्षा होने तक दर्ज नहीं होगी नई FIR

Share this on WhatsAppसुप्रीम कोर्ट ने राजद्रोह कानून पर रोक लगा दी है। कोर्ट ने …

Gurukpo plus app
Gurukpo plus app