Home / News / India / सुप्रीम कोर्ट वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए करेगा सुनवाई

सुप्रीम कोर्ट वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए करेगा सुनवाई

सुप्रीम कोर्ट ने  फैसला लिया की कि पांच पीठ, आमतौर पर जिसमें तीन न्यायाधीश शामिल होते हैं वे 18 मई से 19 जून तक वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए सभी तरह के लंबित और नए मामलों के साथ-साथ तत्काल सुनवाई वाले मामलों की सुनवाई करेगी। जिससे गर्मी की छुट्टी के दौरान अदालत का काम जारी रहेगा। इस दौरान सुनवाई करने के लिए पांच बेंच बनाई गई हैं। हर बेंच में तीन जज होंगे।

इससे पहले उच्चतम न्यायालय ने पेंडिंग केस जल्द निपटाने के लिए सिंगल जज की बेंच सुनवाई करने का फैसला किया था। 13 मई से सिंगल बेंच ने भी काम करना शुरू कर दिया है। उच्चतम न्यायालय के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ। आमतौर पर सुप्रीम कोर्ट की एक बेंच में कम से कम दो जज होते थे। सिंगल जज बेंच जमानत के मामलों में स्पेशल लीव पिटीशन (एसएलपी) और सभी तरह के ट्रांसफर केसों की सुनवाई करेगी।

उच्चतम न्यायालय में 16 मई से सात सप्ताह का लंबा समर वेकेशन शुरू होने वाला था। हर साल 18 मई से 6 जुलाई तक उच्चतम न्यायालय में छुट्टी रहती है। सुप्रीम कोर्ट ने अपनी गर्मियों के सात हफ्ते के अवकाश में कटौती कर इस बार इसे दो सप्ताह का कर दिया है। जजों की बैठक में तय किया गया कि 19 जून तक सुप्रीम कोर्ट वर्तमान की तरह काम करता रहेगा यानी करीब 2 हफ्ते की ही छुट्टी होगी।

बता दें कि कोरोनावायरस लॉकडाउन के दौरान सुप्रीम कोर्ट में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये सुनवाई हो रही है। लॉकडाउन के चलते हाल के दिनों में अदालतों में भी पहले की तरह काम नहीं हुआ है। काम कम होने के चलते ही छुट्टियों में कटौती की गई है। पिछले हफ्ते जस्टिस एल नागेश्वर राव ने भी सुनवाई के दौरान कहा था कि अगले हफ्ते से जज कोर्टरूम में बैठेंगे और वकील अपने चैम्बर से बहस कर सकते हैं।

Check Also

14 साल बाद सबसे गर्म नवंबर

14 साल बाद सबसे गर्म नवंबर

Share this on WhatsAppतानिया शर्मा ठंड की दस्तक के बाद भी देश के कई हिस्सों …

Gurukpo plus app
Gurukpo plus app