Home / News / India / शशिकला के शपथ ग्रहण पर सस्पेंस, गवर्नर कानूनी विशेषज्ञों से ले रहे राय

शशिकला के शपथ ग्रहण पर सस्पेंस, गवर्नर कानूनी विशेषज्ञों से ले रहे राय

चेन्नई: जयललिता की बेहद करीबी रहीं अन्‍नाद्रमुक की जनरल सेक्रेट्री शशिकला के मुख्‍यमंत्री पद की शपथ ग्रहण को लेकर अनिश्चितता बरकरार है. राज्‍य की सत्‍ताधारी अन्‍नाद्रमुक ने उनको विधायक दल का नेता चुन लिया है लेकिन उनके आज या कल मुख्‍यमंत्री के रूप में शपथ लेने पर संशय बरकरार है. दरअसल गवर्नर सी विद्यासागर राव इस वक्‍त तमिलनाडु से बाहर मुंबई में हैं. उन्‍हीं के नेतृत्‍व में शपथ ग्रहण समारोह का आयोजन होगा. फिलहाल उन्‍होंने तमिलनाडु के अपने सभी आगामी कार्यक्रम रद कर दिए हैं. सूत्रों के मुताबिक वह ‘जल्‍दबाजी’ में शपथ ग्रहण कराने के खिलाफ हैं. सूत्रों के मुताबिक गवर्नर इस वक्‍त कानूनी विशेषज्ञों से यह राय ले रहे हैं कि क्‍या इस वक्‍त शशिकला को राज्‍य का मुख्‍यमंत्री बनाया जा सकता है क्‍योंकि भ्रष्‍टाचार के एक मामले में बहुत जल्‍दी कोर्ट का एक निर्णय आने वाला है. इसके अलावा आज तक न तो उन्‍होंने कोई चुनाव जीता है और राजनीतिक रूप से अनुभवी नहीं हैं.

सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को संकेत दिए हैं कि वह शशिकला के खिलाफ आय से अधिक संपत्ति के एक मामले में जल्द फैसला सुना सकता है. तमिलनाडु की दिवंगत मुख्यमंत्री जे जयललिता भी इस मामले में आरोपी थीं. शपथ लेने के बाद दोषसिद्धि होने पर शशिकला को मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देना पड़ सकता है.

इसके अलावा सुप्रीम कोर्ट में सोमवार को एक जनहित याचिका दायर हुई जिसमें शशिकला को मुख्यमंत्री पद की शपथ से रोकने की मांग की गई क्योंकि डीए मामले में दोषसिद्धि होने पर अगर उन्हें इस्तीफा देना पड़ा तो कानून व्यवस्था खराब हो सकती है.

इसके पहले गवर्नर राव रविवार रात शशिकला के अन्नाद्रमुक विधायक दल की नेता निर्वाचित होने के बाद कोयम्बटूर से राष्ट्रीय राजधानी गए थे. वहां से मुंबई चले गए. मुख्यमंत्री ओ पनीरसेल्वम ने रविवार को ही अपने मंत्रिपरिषद के साथ इस्तीफा दे दिया जिसे राज्यपाल ने स्वीकार कर लिया.

 

Check Also

सीमा पर 700 किमी लंबी मानव श्रृंखला बनाकर किया शहादत को सलाम

Share this on WhatsAppजयपुर: देश की सीमा पर तैनात सैनिकों का हौसला बढ़ाने और देश …

Apply Online
Admissions open biyani girls college