Home / biyani times / 5 दिवसीय 17वीं बियानी इंटरनेशनल कॉन्फ्रेंस का शुभारम्भ

5 दिवसीय 17वीं बियानी इंटरनेशनल कॉन्फ्रेंस का शुभारम्भ

बियानी गु्रप ऑफ कॉलेजेज कि ओर से 5 दिवसीय 17वीं बियानी इंटरनेशनल कॉन्फ्रेंस का शुभारम्भ हुआ। कॉन्फ्रेंस के उद्घाटन समारोह का शुभारम्भ विशिष्ट अतिथि राज ऋषि भर्तृहरि मत्स्य विश्वविद्यालय के वाइस चांसलर प्रोफेसर जे पी यादव, भगवान महावीर कैंसर हॉस्पिटल के सीनियर वाइस चेयरपर्सन अनिला कोठारी, डीएसटी की ए.वन डिविजन ऊषा दीक्षित, पीसी मोदी एंड कंपनी के चार्टर्ड अकाउंटेंट पीसी मोदी, जापान के जेएआईएसटी के प्रोफेसर मासाहीरो ताकागी, कॉलेज के चेयरमैन डॉ राजीव बियानी,डायरेक्टर डॉ संजय बियानी, रिसर्च एंड डेवलपमेंट डायरेक्टर डॉ मनीष बियानी, प्रिंसिपल डॉ नेहा पांडे और कॉलेज डीन डॉ ध्यान सिंह गोठवाल ने दीप प्रज्जवलन कर किया।इस संगोष्ठी में रिसर्च एण्ड डवलपमेंट के डायरेक्टर डॉ. मनीष बियानी ने अपने नए अविष्कार बायो-म्यू-रन डिवाइस का उद्घाटन भी किया। बायोम्यूरन एक ऐसा टेक्नीक डिवाइस है जो कि 10 मिनट में डीएनए और आरएनए का विश्लेषण कर सकता है। यह डिवाइस, पीसीआर टेक्निक को आसान और हर जगह उपयोग में लाए जा सकें इस बात को ध्यान में रखकर बनाई गई है।

इस अवसर इस्टैब्लिशमेंट ऑफ न्यू रिलेशनशिप इन रिसर्च विषय पर साइंस विभाग कि ओर से आयोजित कॉन्फ्रेंस में 5 टेक्नीकल सेशन, 4 स्पेशल सेशनय, एकेडिमिया, इंडस्ट्री एंड एंटरप्रन्योरशिप पर 5 स्पेशल सेशन और ओरल प्रेजेंटेशन के सत्र आयोजित किए गए राज  ऋषि भर्तृहरि मत्स्य विश्वविद्यालय के वाइस चांसलर प्रोफेसर जे पी यादव ने कहा कि रिसर्च के क्षेत्र में सोशल व माइक्रो रिसर्च पर काम करना चाहिए। वहीं भगवान महावीर कैंसर हॉस्पिटल के सीनियर वाइस चैयरपर्सन अनिला कोठारी ने गांव में स्वास्थ्य एवं स्वच्छता संबंधित जानकारी साझा की। डीएसटी की ए.वन डिविजन ऊषा दीक्षित ने कहा कि विद्यार्थियों के नए विचारों को राष्ट्रीय व अर्न्तराष्ट्रीय स्तर पर लेकर जाने की कोशिश की जानी चाहिए। वहीं चार्टड अकाउटेंट पीसी मोदी ने बताया कि सरकार की मदद के द्वारा और आर्थिक व्यवस्था में सहायक होकर विद्यार्थियों के सपनों को पूरा करने की कोशिश की जा रही है। जापान के जेएआईएसटी के प्रोफेसर मासाहीरो ताकागी ने सेल सिग्नल ट्रांसडक्शन के बारे में समझाते इससे जुडे़ कई तरह के मोडल्स से जुड़ी जानकारी साझा की।

कॉन्फ्रेंस के पहले 5 टेक्निकल सेशन में एमिटी इंस्टीट्यूट ऑफ बायोटेक्नोलॉजी के डायरेक्टर विनय शर्मा, यशराज बायोटेक के चीफ कमर्शियल ऑफिसर रूपेश भार्गव, साइतामा यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर डॉ मीहो सूजूकी, अकिता प्रीफेक्चरल यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर हिरोशी ओकामोटो शामिल हुए कैंसर  के स्पेशल सेशन में मेडिकल सुप्रीडेंट ऑफ स्टेट कैंसर इंस्टिटयूट के डॉ संदीप जसूजा, फॉर्टिस एस्कॉर्ट्स अस्पताल के निदेशक जीआई डॉ सुदीप जैन, कनजावा यूनिवर्सिटी, जापान के प्रोफेसर काजूहीरो मूराकामी, कनजावा यूनिवर्सिटी डॉ मधू बियानी ने अपने विचार प्रस्तुत किए।

इसके अलावा एकेडिमिया, इंडस्टी एंड एंटरप्रन्योरशिप पर 5 स्पेशल सेशन रखे गए जिसमें एमडीएस यूनिवर्सिटी के एचओडी डॉ सुभाष चन्द्रा, बिजसंस इनोवेशन के को फांउडर अमित कुमार जैन, आई र्स्टाट राजस्थान के मेन्टोर व कंसलटेंट राकेश कुमार राव, क्लब फर्स्ट रोबोटिक्स के एमडी एंटरप्रेन्योर भुवनेश मिश्रा और एयूम एसेंस की फाउंडर हिमांशी शर्मा ने इंडस्ट्री व एंटरप्रन्योरशिप पर अपने विचार रखें। इसके बाद ओरल प्रेजेंटेशन के सत्र का आयोजन किया गया और वहीं समारोह का अंत कल्चरल परफॉर्मेंस के साथ हुआ।

Check Also

14 साल बाद सबसे गर्म नवंबर

14 साल बाद सबसे गर्म नवंबर

Share this on WhatsAppतानिया शर्मा ठंड की दस्तक के बाद भी देश के कई हिस्सों …

Gurukpo plus app
Gurukpo plus app