Breaking News
Home / Creativity / Birthdays / हर विद्यार्थी के लिए जरूरी हैं गांधीजी की सीख

हर विद्यार्थी के लिए जरूरी हैं गांधीजी की सीख

अनुष्का शर्मा

1. सच्चाई और ईमानदारी

गांधी ने हमेशा सच्‍चाई और ईमानदारी को अपनाया. उन्‍होंने सभी को अपने जीवन में इसे अपनाने के लिए कहा. वे मानते थे कि सच्‍चाई और ईमानदारी से किसी का भी दिल जीता जा सकता है.सत्य और ईमानदारी महात्मा गांधी द्वारा सिखाए गए बुनियादी मूल्य हैं. स्वतंत्रता संग्राम में अपने प्रयासों से महात्मा गांधी ने हमें दिखाया कि सत्य की ही जीत होती है. यह उनकी वास्तविक जीवन की कई घटनाओं से साबित भी होता है.

2. अहिंसा की शक्ति (अहिंसा)

गांधीजी द्वारा दी गई सबसे सर्वोच्च क्रम की एक सक्रिय शक्ति है। जो हमारे भीतर आत्मिक और ईश्वरत्व की शक्ति के रूप में विद्यमान है। जिसे हम अहिंसा के नाम से भी जानते हैं. महात्मा गांधी ने साबित किया कि शांतिपूर्ण प्रतिरोध महत्वपूर्ण सामाजिक और राजनीतिक परिवर्तन ला सकता है. स्कूली छात्रों को इससे सीखना और समझना चाहिए कि हिंसा में शामिल हुए बिना भी झगड़ों को सुलझाया जा सकता है.

3. माफ करना

गांधीजी ने हमें सिखाया कि क्षमा करना मजबूत चरित्र का प्रतीक है. कमजोर लोग द्वेष रखते हैं और बदला लेने की योजना बनाते हैं. गांधीजी का मानना था। कि माफी एकता पैदा करने का एक तरीका है. उन्होंने महसूस किया कि दूसरों को माफ करके, हम एक साथ आने और हमारे बीच मौजूद मतभेदों को दूर करने में सक्षम हैं.

4. सादा जीवन उच्‍च विचार

बापू लोगों से सादा जीवन और ऊंचे विचार रखने के लिए कहते थे. वह खुद भी सादगी से जीते थे.

5. दृढ़ता-धैर्य

जब तक किसी चीज को पूरा नहीं किया जाता तब तक वह हमेशा असंभव ही लगता है. जब चीजें मुश्किल हो जाती हैं तो हम अक्सर हार मान लेते हैं. महात्मा गांधी ने अपने जीवन के अनुभवों से हमें दिखाया कि रास्ता चाहे कितना भी कठिन क्यों न हो, दृढ़ता हमें अपने लक्ष्य तक ले जा सकती है.

6. सकारात्‍मक सोच

सकारात्‍मक सोच को उन्‍होंने आत्‍मसात कर लिया था. वह मानते थे कि सकारात्‍मक सोच रखकर बड़ी से बड़ी चुनौती को पार किया जा सकता है.

7. शिक्षा का महत्व

गांधीजी ने व्यक्तिगत विकास और राष्ट्र निर्माण में शिक्षा के महत्व पर जोर दिया. वह ऐसे व्यक्ति थे जिन्होंने सभी के लिए बुनियादी शिक्षा का प्रस्ताव पेश किया और गांधी जी मानते थे कि सदाचार की शिक्षा तो सबसे पहले मिलनी चाहिए. उन्होनें व्यावसायिक अध्ययन  के साथ सदाचार की शिक्षा को बढ़ावा दिया. छात्रों को यह समझना चाहिए कि शिक्षा सकारात्मक बदलाव का एक शक्तिशाली उपकरण है.

Check Also

कांग्रेस की छठी सूची; राजस्थान में चार, तमिलनाडु में एक उम्मीदवार का एलान

Share this on WhatsAppराइटर : अनुष्का शर्मा आम चुनाव के लिए कांग्रेस की छठी सूची; …

Gurukpo plus app
Gurukpo plus app