Home / biyani times / अलविदा बप्पी दा : गंभीर बीमारी से जूझ रहे थे बप्पी लाहिड़ी, सितारों ने दी श्रद्धांजलि

अलविदा बप्पी दा : गंभीर बीमारी से जूझ रहे थे बप्पी लाहिड़ी, सितारों ने दी श्रद्धांजलि

80 और 90 के दशक में भारत में डिस्को संगीत को लोकप्रिय बनाने वाले संगीतकार और गायक बप्पी लाहिड़ी का मंगलवार को मुंबई के क्रिटिकेयर अस्पताल में निधन हो गया। वह 69 वर्ष के थे। प्यार से बप्पी दा के नाम से जाने जाने वाले संगीतकार के निधन से फिल्मी दुनिया में शोक में हैं और बॉलीवुड के सितारों ने सोशल मीडिया पर उन्हें भाव पूर्ण श्रद्धांजलि दे रहे हैं।

बॉलीवुड के मशहूर फिल्म निर्माता मधुर भंडारकर ने अपनी पोस्ट में कहा है कि वेटरन म्यूजिक डायरेक्टर बप्पीदा के निधन से स्तब्ध हूं। ये म्यूजिक इंडस्ट्री के लिए अपूर्णिय क्षति है।

वहीं मनोज मुंतशिर ने श्रद्धांजलि पेश करते हुए कहा कि शरीर पर पहना हुआ सोना तो बस बाहरी आवरण था, #BappiLahiri को उनके स्वर्णिम संगीत के लिए हमेशा-हमेशा याद रखा जाएगा। एक फ़िल्म में उनके साथ काम करने का सौभाग्य मुझे भी मिला था, आज वो यादें व्यथित कर रही हैं। अलविदा बप्पी दा.

अजय देवनग ने ट्वीट किया है, ‘बप्पी दा व्यक्तिगत रूप से बहुत ही प्यारे थे। उनके संगीत में एक धार थी। उन्होंने चलते-चलते, सुरक्षा और डिस्को डांसर के जरिए हिंदी फिल्म इंडस्ट्री को अपने कंटेंपरेरी स्टाइल से रूबरू करवाया था। शांति दादा, आप हमेशा याद किए जाएंगे।’

वहीं अक्षय कुमार ने ट्वीट किया है, ‘आज हमने म्यूजिक इंडस्ट्री का एक और अनमोल रत्न खो दिया है। बप्पी दा मुझे मिलाकर….आपकी आवाज लाखों लोगों के लिए डांस करने की वजह थी। अपने संगीत के जरिए आप जो खुशियां बांटते थे…उन सभी खुशियों के लिए आपका शुक्रिया। परिवार को मेरी ओर से संवेदनाए, ओम शांति…।’

आपकी जानकारी के लिए बता दे की बप्पी लाहिड़ी, जिन्हें व्यापक रूप से भारत में “डिस्को किंग” के रूप में जाना जाता है, का जन्म 1952 में पश्चिम बंगाल के कलकत्ता में शास्त्रीय संगीत में एक समृद्ध परंपरा वाले परिवार में हुआ था। उन्होंने 19 साल की छोटी उम्र में एक संगीत निर्देशक के रूप में अपना करियर शुरू किया। उनके पिता, अपरेश लाहिड़ी एक प्रसिद्ध बंगाली गायक थे और उनकी मां, बंसारी लाहिड़ी एक संगीतकार और एक गायिका थीं, जो शास्त्रीय संगीत और श्यामा संगीत में पारंगत थीं।

वही अस्पताल के निदेशक डॉ दीपक नामजोशी ने पीटीआई को बताया कि “लाहिड़ी को एक महीने के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया था और सोमवार को उन्हें छुट्टी दे दी गई थी। लेकिन मंगलवार को उनकी तबीयत बिगड़ गई और उनके परिवार ने एक डॉक्टर को उनके घर बुलाया। उन्हें फिर अस्पताल लाया गया। उन्हें कई स्वास्थ्य समस्याएं थीं, जिसकी वजह से उनकी मृत्यु हो गई।

Check Also

कॉन्फ्रेंस के चौथे दिन एमओयू किया साइन

कॉन्फ्रेंस के चौथे दिन एमओयू किया साइन

Share this on WhatsAppविद्याधर नगर स्थित बियानी ग्रुप ऑफ कॉलेजेज में आयोजित 17वीं बियानी इंटरनेशनल …

Gurukpo plus app
Gurukpo plus app