Breaking News
Home / biyani times / विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस : मीडिया लोकतंत्र का चौथा स्तंभ

विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस : मीडिया लोकतंत्र का चौथा स्तंभ

विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस हर साल ३ मई को सम्पूर्ण विश्व भर में मनाया जाता है। संयुक्त राष्ट्र महासभा ने 3 मई को विश्व प्रेस दिवस या विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस के रूप में घोषणा की गई। प्रेस स्वतंत्रता के महत्व पर जागरूकता फैलाने और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के अधिकार का समर्थन और सम्मान बनाए रखने के लिए ये दिवस मनाने का उद्देश्य है। मीडिया के अधिकारों के लिए लोकतंत्र का निर्माण किया गया है जो मूल्यों को फिर से निर्धारित करने में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। इसलिए हमारी सरकार को पत्रकारों को सुरक्षित रखने में हर संभव मदद करनी चाहिए।

विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस क्यों मनाया जाता है :-

विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस प्रेस की आजादी के प्रारंभिक सिद्धांतों का जश्न मनाने, दुनिया भर में प्रेस की आजादी की स्वतंत्रता के मूल्यांकन के लिए और उन आक्रमणों से मीडिया को बचाने के लिए जो प्रेस की आजादी के लिए खतरा बन रहे हैं, इन सभी के लिए यह दिवस मनाया जाता है। यह दिवस उन पत्रकारों को सलाम करने के लिए मनाया जाता है जिन्होंने कर्तव्य की ज़िंदगी में अपना जीवन को खो दिया है। यह नागरिकों को प्रेस की स्वतंत्रता के उल्लंघन के बारे में सूचित करने के लिए एक सूचना के रूप में कार्य करता है। यह एक दुख:द तथ्य है कि दुनिया भर के कई देशों में प्रकाशनों पर जुर्माना, निलंबन, सेंसर की रोक लगाई जाती है और संपादकों, प्रकाशकों और पत्रकारों पर हमला किया जाता है तथा उन्हें हिरासत में लिया जाता है, परेशान किया जाता है और यहां तक कि हत्या भी कर दी जाती है। यह प्रेस आजादी के अनुमोदन में पहल को विकसित करने और प्रोत्साहित करने के लिए और दुनिया भर में प्रेस की आजादी की स्थिति का आकलन करने का दिवस है और इन्ही प्रेस की सुरक्षा के लिए तथा इन्हे प्रोत्साहित करने के लिए यह दिवस मनाया जाता है।

विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस : मीडिया लोकतंत्र का चौथा स्तंभ

विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस कैसे मनाया जाता है :-
दुनिया भर में सौ से भी अधिक देशों में विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस मनाया जाता है। प्रेस स्वतंत्रता के महत्व को निर्धारित करने के लिए यह दिवस मनाया जाता है। कमरों में होने वाली बैठकों से लेकर सांस्कृतिक महोत्सव और प्रदर्शन संयुक्त राष्ट्र शैक्षिक, वैज्ञानिक और सांस्कृतिक संगठन (यूनेस्को) कई देशों की पहल का समन्वय करता है और अधिकांश समय अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता को बढ़ावा देने के लिए एक संगठनात्मक भागीदार के रूप में कार्य करता है। यूनेस्को भी ऐसे योग्य संगठनों, व्यक्तियों या संस्थानों के पुरस्कारों को सम्मानित करने के रूप में यह दिवस के दौरान किया जाता है। जिन्होंने विश्व के किसी भी हिस्से में पदोन्नति और प्रेस स्वतंत्रता की रक्षा में प्रशंसनीय योगदान दिया है, विशेष रूप से जब उपलब्धि खतरे के सामने होती है। उन सभी प्रेस सहायक को पुरस्कार द्वारा सम्मानित किया जाता है।

विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस की थीम :-
प्रेस स्वतंत्रता संगठनों और संयुक्त राष्ट्र एजेंसियों को दुनिया भर में प्रेस स्वतंत्रता की स्थिति का उपयोग करने और चुनौतियों का समाधान करने के लिए समाधानों पर चर्चा करके हर साल विभिन्न थीम को अपनाया। प्रत्येक सम्मेलन थीम पर आधारित जैसे प्रेस स्वतंत्रता, आतंकवाद मीडिया कवरेज, दण्ड से मुक्ति, सुशासन और जाति संघर्ष विवाद वाले देशों में मीडिया की भूमिका आदि होता है।

विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस 2019 की थीम “लोकतंत्र के लिए मीडिया और पत्रकारिता का चुनाव के समय होने वाले दुष्प्रचार को रोकने में महत्व (मीडिया फार डेमोक्रेसीः जर्नलिज्म एंड इलेक्शन इन टाइम आफ डिसइंनफारमेशन” है।

विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस 2020 की थीम “भय या पक्षपात के बिना पत्रकारिता थी।

विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस 2021 की थीम “महामारी से प्रेस की स्वतंत्रता को खतरा” है।

विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस 2022 की थीम ” डिजिटल घेराबंदी के तहत पत्रकारिता ।

 

राधिका अग्रवाल

Check Also

“रक्त विकार” पर जागरूकता वार्ता का हुआ आयोजन

Share this on WhatsAppजयपुर विद्याधर नगर स्थित बियानी नर्सिंग कॉलेज एवं महावीर कैंसर हॉस्पिटल के …

Gurukpo plus app
Gurukpo plus app