नगर निगम ग्रेटर के संचालन समिति अध्यक्षों को मिलेगा वाहन

नगर निगम ग्रेटर के संचालन समिति अध्यक्षों को मिलेगा वाहन

अनुष्का शर्मा

जयपुर महापौर ने साफ कहा कि बिना वेरीफिकेशन के किसी के कहने पर कार्रवाई नहीं होगी। जो अवैध है केवल उन पर कार्रवाई की जाएगी।   कोरोना की वजह से आर्थिक तंगी से जूझ रहे नगर निगम ग्रेटर के खाते में सोमवार को एक अतिरिक्त खर्चा जुड़ गया है। निगम संचालन समिति के अध्यक्षों को नगर निगम वाहन उपलब्ध कराएगा। कार्यवाहक महापौर शील धाभाई की अध्यक्षता में सोमवार को हुई वित्त समिति की बैठक में यह निर्णय किया गया।  बैठक में गैराज शाखा में कार्यरत वाहनों के पेमेंट के प्रस्ताव को मंजूरी दी गई। साथ ही पार्षदों को वेतन—भत्ते नहीं मिल पा रहे हैं। बैठक में तय हुआ कि पार्षद व कर्मचारियों को हर महीने की पांच तारीख तक वेतन—भत्ते दिए जाएं। बैठक में रेवेन्यू बढ़ाने को लेकर भी विचार किया गया।

गड्ढ़े भरे जाएंगे, देंगे पैसा

धाभाई ने कहा कि बारिश की वजह से शहर में कई जगहों पर सड़कों पर गड्ढ़े हो गए हैं। इनकी मरम्मत के लिए सभी अधिशासी अभियंताओं से मिलने वाली डिमांड के अनुसार पैसा रीलिज किया जाएगा। इसके लिए वित्तीय सलाहकार को निर्देश दिए गए हैं।

अवैध निर्माण जांचने के बाद ही हो कार्रवाई

बैठक में बारिश के दौरान शहर में हो रहे अवैध निर्माणों को लेकर चर्चा हुई। इसमें तय किया गया कि विजिलेंस शाखा को वाहन दिए जाएंगे, ताकि अवैध निर्माणों की निगरानी हो सके।


Posted

in

,

by