पहला भारतीय जो हावर्ड स्टूडेंट यूनियन का प्रेसिडेंट बना

पहला भारतीय जो हावर्ड स्टूडेंट यूनियन का प्रेसिडेंट बना

तानिया शर्मा

2020-21 में शरद को हार्वर्ड यूनिवर्सिटी स्टूडेंट यूनियन का प्रेसिडेंट चुना गया था। 50 से ज्यादा देशों के 1200 से अधिक स्टूडेंट्स ने शरद को वोट दिया। हार्वर्ड के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ जब किसी भारतीय को प्रेसिडेंट चुना गया।

शरद कहते हैं, ‘बिहार से होने की वजह से कभी ताना तो नहीं सुनना पड़ा, लेकिन कई लोग कहते थे- अरे! एक बिहारी की इतनी अच्छी इंग्लिश कैसे हो सकती है? मैं उनसे कहता था- नहीं, बिहार के लोग भी अच्छी अंग्रेजी बोल सकते हैं।’

शरद के नाम दर्जनों रिकॉर्ड दर्ज हैं। अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा से मिलने से लेकर फोर्ब्स 30 अंडर 30 और कौन बनेगा करोड़पति (KBC) में बतौर एक्सपर्ट शामिल होने तक। ये उपलब्धियां शरद ने 30 साल से कम उम्र में हासिल की हैं।

हालांकि, इस सफर में शरद पर गमों का पहाड़ भी टूटा। वे बताते हैं, 16 साल की उम्र में मां को खो दिया। जब 24 साल का हुआ, तो भाई की भी मौत हो गई। वो MIT बोस्टन जाने वाले बिहार के पहले स्टूडेंट थे। उन्हें दूसरा ‘रामानुजन’ भी कहा जाता है।

आपकी संस्था बच्चों को स्कॉलरशिप कैसे दिलवाती है?

देशभर के स्टूडेंट्स के लिए एजुकेशन लेवल पर जितनी भी अपॉर्चुनिटी हैं- स्कॉलरशिप, नेशनल-इंटरनेशनल कॉम्पिटिशन, कॉन्फ्रेंस, वर्कशॉप… हर महीने के पहले रविवार को हम स्कूलों और बच्चों तक पहुंचाते हैं। बच्चों को स्टडी मटेरियल भी देते हैं।

देशभर के स्टूडेंट्स के लिए एजुकेशन लेवल पर जितनी भी अपॉर्चुनिटी हैं- स्कॉलरशिप, नेशनल-इंटरनेशनल कॉम्पिटिशन, कॉन्फ्रेंस, वर्कशॉप… हर महीने के पहले रविवार को हम स्कूलों और बच्चों तक पहुंचाते हैं। बच्चों को स्टडी मटेरियल भी देते हैं।

KBC से कैसे बुलावा आया?

एक शाम ट्विटर पर मैसेज आया कि मुझे एक्सपर्ट के तौर पर KBC में जॉइन कराना चाहते हैं। जब शो में कनेक्ट हुआ तो एक्टर अमिताभ बच्चन ने कहा- ये शरद सागर हैं। हमेशा नीले रंग की शर्ट और ब्लैक पैंट पहनते हैं। विवेकानंद से प्रेरित हैं।

मैंने देखा कि कैसे इतनी बड़ी शख्सियत सामने वाले का सम्मान के साथ इंट्रोडक्शन करवा रहा है। शायद यही बात एक इंसान को बड़ा बनाती है।