Home / News / भारतीय 4×400 मीटर रिले टीम ने तोड़ा एशियन रिकॉर्ड

भारतीय 4×400 मीटर रिले टीम ने तोड़ा एशियन रिकॉर्ड

अनुष्का शर्मा

भारतीय टीम कुल नौवें स्थान पर रही और एशियाई रिकॉर्ड तोड़ा

भारतीय पुरुषों की 4×400 मीटर रिले टीम (Indian Men’s 4×400 Meter Relay Team) ने 6 अगस्त को एशियाई रिकॉर्ड तोड़ा लेकिन वह टोक्यो ओलिंपिक (Tokyo Olympics 2020) के फाइनल में नहीं पहुंच पाई जबकि पैदल चाल के एथलीटों ने निराशाजनक प्रदर्शन किया. मोहम्मद अनस याहिया, टॉम नोह निर्मल, राजीव अरोकिया और अमोल जैकब की भारतीय चौकड़ी दूसरी हीट में तीन मिनट 00.25 सेकेंड का समय निकालकर चौथे स्थान पर रही. भारतीय टीम कुल नौवें स्थान पर रही और इस तरह से आठ टीमों के फाइनल में जगह नहीं बना पाई. दोनों हीट में शीर्ष तीन स्थानों पर रहने वाली टीमें और इसके दो सर्वश्रेष्ठ समय निकालने वाली टीमें फाइनल में जगह बनाती हैं. इससे पहले का एशियाई रिकॉर्ड कतर के नाम पर था जिसने तीन मिनट 00.56 सेकेंड के साथ एशियाई खेल 2018 में स्वर्ण पदक जीता था.

राष्ट्रीय रिकॉर्डधारक याहिया ने सबसे धीमा समय निकाला

जैकब सबसे आखिर में दौड़े और उन्होंने भारतीयों में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुए 44.68 सेकेंड में दौड़ पूरी की. जब उन्होंने राजीव अरोकिया (44.84 सेकेंड) से बैटन ली तो तब टीम छठे स्थान पर चल रही थी लेकिन उन्होंने दो प्रतिद्वंद्वियों को पीछे छोड़ा. राष्ट्रीय रिकॉर्डधारक याहिया ने 45.60 सेकेंड के साथ सबसे धीमा समय निकाला. इससे पहले राष्ट्रीय रिकॉर्डधारी प्रियंका गोस्वामी महिलाओं की 20 किमी पैदल चाल स्पर्धा में 17वें और भावना जाट 32वें स्थान पर रहीं

गुरप्रीत पूरी नहीं कर सके रेस

गुरप्रीत सिंह पुरुषों की 50 किलोमीटर पैदल चाल पूरी नहीं कर सके और गर्मी व उमस के कारण ऐंठन की वजह से उन्होंने नाम वापस ले लिया. वह 35 किमी की दूरी दो घंटे 55 मिनट 19 सेकंड में पूरी करके 51वें स्थान पर थे. इसके बाद वह अलग बैठ गए और मेडिकल टीम ने उनकी मदद की. इस तरह से भारतीय पैदल चाल खिलाड़ियों का अभियान निराशाजनक तरीके से समाप्त हुआ. 25 साल की प्रियंका ने एक घंटे 32 मिनट 36 सेकेंड का समय निकाला जो उनके व्यक्तिगत सर्वश्रेष्ठ एक घंटे 28 मिनट और 45 सेकेंड के प्रदर्शन से अधिक था जबकि यह उन्होंने फरवरी में राष्ट्रीय ओपन पैदल चाल चैम्पियनिशप के दौरान ही बनाया था.

8 किलोमीटर तक आगे थीं प्रियंका लेकिन फिर पिछड़ीं

यह स्पर्धा हालांकि काफी गर्मी और उमस भरी परिस्थितियों में संपन्न हुई. प्रियंका शुरू में आगे चल रहे खिलाड़ियों में शामिल थी बल्कि आठ किलोमीटर तक दूरी तय करने के बाद वह सबसे आगे थीं लेकिन धीरे धीरे वह पीछे खिसकती चली गईं. भावना आगे चल रही खिलाड़ियों के साथ अपनी रफ्तार बरकरार नहीं रख सकीं और शुरू से ही पीछे चल रही थीं

जिससे वह एक घंटे 37 मिनट 38 सेकेंड से 32वें स्थान पर रहीं. भावना का व्यक्तिगत सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन एक घंटे 29 मिनट 54 सेकेंड का है. इटली की एंतोनेला पामिसानो ने एक घंटे 29 मिनट 12 सेकेंड से स्वर्ण पदक जीता जबकि कोलंबिया की सांड्रा लोरेना अरेनास ने रजत और चीन की होंग लियू ने कांस्य पदक हासिल किया.

 

Check Also

टी-20 वर्ल्ड कप पहला सेमीफाइनल

टी-20 वर्ल्ड कप पहला सेमीफाइनल

Share this on WhatsAppतानिया शर्मा न्यूजीलैंड और पाकिस्तान के बीच सिडनी क्रिकेट ग्राउंड में टी-20 …

Gurukpo plus app
Gurukpo plus app