Breaking News
Home / Bhakti / Diwali 2020: 17 साल बाद सर्वार्थसिद्धि योग में दिवाली, जानिए गृहस्थों और व्यापारियों के लिए लक्ष्मी पूजन शुभ मुहूर्त

Diwali 2020: 17 साल बाद सर्वार्थसिद्धि योग में दिवाली, जानिए गृहस्थों और व्यापारियों के लिए लक्ष्मी पूजन शुभ मुहूर्त

Diwali 2020 Shubh Muhurat Timing: हिंदू पंचांग के अनुसार हर वर्ष कार्तिक माह के कृष्ण पक्ष की अमावस्या तिथि पर दीपावली का त्योहार मनाया जाता है। इस वर्ष दिवाली शनिवार, 14 नवंबर के दिन मनाई जा रही है। कई वर्षों के बाद शनिवार के दिन दिवाली मनाई जाएगी जो एक दुर्लभ संयोग है। अगर ग्रहों की चाल के बात करें तो ज्योतिषाचार्यों के अनुसार शनिवार को शनि स्वयं की राशि में होने से दिवाली बहुत ही शुभ लाभकारी होगी। 17 साल के बाद सर्वार्थ सिद्धि योग में दिवाली पूजन और उत्सव मनाया जाएगा। दिवाली पर भगवान गणेश और देवी लक्ष्मी की विधिवत रूप से पूजा करने की परंपरा होती है। आइए जानते हैं इस दिवाली लक्ष्मी-गणेश पूजन करने का शुभ मुहूर्त क्या रहेगा।
दिवाली 2020 लक्ष्मी पूजा का मुहूर्त Diwali 2020 and Laxmi Pujan Muhurat
लक्ष्मी पूजा मुहूर्त्त, 14 नवंबर :  शाम 5 बजकर 30 मिनट से 7 बजकर 25 मिनट तक
अवधि : 1 घंटे 55 मिनट
प्रदोष काल : शाम 5 बजकर 27 मिनट से 8 बजकर 06 मिनट तक
वृषभ काल :  14 नवंबर शाम 5 बजकर 30 मिनट से 7 बजकर 25 मिनट तक
लक्ष्मी पूजन 2020: चौघड़िया मुहूर्त
दोपहर का समय:  2 बजकर 18 से शाम 4 बजकर 7 मिनट तक
शाम: शाम को 5 बजकर 30 मिनट से शाम 7 बजकर 8 मिनट तक
रात्रि: रात 8 बजक 50 मिनट से देर रात 1 बजकर 45 मिनट तक
प्रात:काल: 15 नवंबर को सुबह 5 बजकर 4 मिनट से 6 बजकर 44 मिनट तक
दिवाली महानिशीथ काल मुहूर्त
लक्ष्मी पूजा मुहूर्त्त :23:39 मिनट से 24:32 मिनट तक
गृहस्थों के लिए लक्ष्मी पूजा 2020 मुहूर्त
प्रदोष काल मुहूर्त, 14 नवंबर:  शाम 5 बजकर 33 मिनट से रात को 8 बजकर 12 मिनट तक
वृषभ काल मुहूर्त, 14 नवंबर:  शाम 5 बजकर 30 मिनट से रात के 7 बजकर 25 मिनट तक
सिंह लग्न मुहूर्त, 14 नवंबर:  आधी रात 12 बजकर 05 मिनट से देर रात 2 बजकर 20 बजकर मिनट तक
सर्वश्रेष्ठ पूजा मुहूर्त:  शाम 5 बजर 30 मिनट से 6 बजकर 02 मिनट तक
व्यापारियों के लिए लक्ष्मी पूजा मुहूर्त
सर्वश्रेष्ठ अभिजीत मुहूर्त: दोपहर 12 बजकर 09  मिनट से शाम  को  4 बजकर 5 मिनट तक

Check Also

रामलला के दर्शन में उमड़ी भक्तो की भीड़, पहले दिन करीब 5 लाख लोगों ने किए दर्शन

Share this on WhatsAppअयोध्याः 22 जनवरी को हुई प्राण प्रतिष्ठा के बाद रामलला के कपाट …

Gurukpo plus app
Gurukpo plus app